थोड़ी भक्ति , थोड़ा ज्ञान

-Prashant Das

———————-

#covid19

विस्मित , चिंतित , आतंकित
हमारे अंतरतम का गान ।

एकाकी गालियां और जनपथ
अंदर से ताले लगे मकान।

हुआ क्या ऐसा इस धरती पर
बिन अनुमान , बिन संज्ञान ?

सामाजिकता कंप्यूटर तक
व्हाट्स-ऐप्प तक अनुसंधान ।

राजनीति की ज्वाला भड़की
जलता घर पर है इंसान ।

धर्म – पंथ के ईंधन पर
नफरत के नहीं पके पकवान ।

उन बेघर मजदूरों को भी
आत्मीयता मिले समान ।

भारतीयता रहे ये अस्मित
बनें रहे हम सब इंसान ।

प्रलय का अंत हमारे हाथों
होगा जल्द , निश्चित श्रीमान ।

एकमात्र संकल्प है साधन
थोड़ी भक्ति , थोड़ा ज्ञान ।

One comment

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s